श्रृद्धांजलि

"म० प्र० के स्कूल शिक्षा मंत्री लक्ष्मण सिंह गौड़ के असामयिक निधन पर जबलपुर स्तब्ध है.... इस
महान व्यक्तित्व के लिए हमारी भावपूर्ण श्रृद्धांजलि "

" मन पीडा अरु अवसादों के सागर में गोते खाता है......
रह-रह उनका उजाला मस्तक स्मृतियों में आता है.....!!"

1 टिप्पणी:

  1. मेरी और से विन्रम श्रध्धांजलि ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करे

    उत्तर देंहटाएं

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!