प्रायोजक चाहिए

-->

In the memory of
Late Savyasachi Mrs. Pramila Billore
Girish Billore ‘Mukul’
Presents: Baware-Faqeera
Singer: Aabhas Joshi, Sandeepa Music:Shreyash Joshi
Lyricist: Girish Billore”Mukul”, Studio: Swar-Darpan
No: Jabalpur Date19/02/09
To
Respected Sir,
By the grace of almighty I am going to launch album comprising of Sai Bhajan named Baware Faqeera on 14 March 2009 at 07:30P.M. Manas Bhawan Jabalpur in presence of honorable guest and Abhas Joshi.
This audio album is dedicated to my mother late Mrs.Pramila Billore who encouraged me to prepare devotional album to help” Polio Suffering Children”. Also profit earned through this album will be given to District-Administration for making arrangement of Lifeline Express. Kindly give us your cooperation for above event.
Sponser Ship :
  • Main Gate
  • Stage
  • Momentose
  • Invitation
  • Banner
  • Album Cover

Thanking you
GIRISH BILLORE “MUKUL”
PRODUCER {HONARARY & LYRICIST}
CONTACT: 969/A GATE NO.4 WRIGHT TOWN, JABALPUR

5 टिप्‍पणियां:

  1. अच्‍छे काम में हर कोई सहायता करने को चला आता है। आप सम्‍पर्कों को खडखडाते रहें। बाबा आपका मनोरथ पूरा करेंगे।
    शुभ-कामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. मेरे लायक जो भी संभव हो, बतायें.

    उत्तर देंहटाएं
  3. और जो संभव ना हो उसे मेरे लायक बनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. 01:-अच्‍छे काम में हर कोई सहायता करने को चला आता है। आप सम्‍पर्कों को खडखडाते रहें। बाबा आपका मनोरथ पूरा करेंगे।
    शुभ-कामनाएं।
    02:-मेरे लायक जो भी संभव हो, बतायें.
    03:-और जो संभव ना हो उसे मेरे लायक बनाएँ।
    अब कुछ शेष नहीं
    मेरे साथ सब कुछ आ गया
    आत्म-शक्ति
    विश्वास
    और
    उर्जा
    यही तो है सबूरी

    उत्तर देंहटाएं

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!