अंधी प्रीत

7 टिप्‍पणियां:

  1. बेहतरीन विडियो. आभार प्रस्तुति का.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत गाढ़ा प्यार है भाई!
    हमारे भी कोई ऐसे बाल काट दे नाई!

    उत्तर देंहटाएं
  3. प्रीत भली अंधी लगी करता हूँ आभार।
    आगे भी दिखला सकें इस पर करें विचार।।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. true love

    but i don't think that eyes can be transplanted from from a living people only eyes are extracted after death of a person

    उत्तर देंहटाएं

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!