"एक पोर्न स्टार की आमद बनाम भट्ट जी का भट्टा "

एक पोर्न स्टार की आमद से तहलका मचाने वाली खबरों का आना माया नगरी के भट्ट साब को भट्टा सुलगाने के लिये जिस आग की ज़रूरत थी वो मिल ही गई. भट्ट कैम्प के  दर्शकों के लिये सुखद खबर थी उधर भट्टा जलाने  आस लगाए भट्ट जी की बाछैं खिल गईं. तब तक भट्ट कैम्प के पंजीकृत दर्शक ?.. भट्ट जी का भट्टा कब आग पकड़ेगा इस गुंताड़े में जिस्म-2 के पोस्टर को सामने रख मद्यपान कर उनके गुनगान कर रहे हैं. यानी भारत में इन महाशय के अलावा किसी की ताक़त नहीं कि वे "नैतिक-भ्रष्टाचार" कर सके . बिग बास के पांचवें सत्र में भी सन्नी को लाना बिग बास की "भीड़ जुटाओ : धन कमाओ" के अतिरिक्त और कुछ न था. यानी कुल मिलाकर किसी भी सूरत में नोट कमाएं. इस सब के चलते खबरची भाई लोग काहे पीछे रहते. करीना से लेकर पता नहीं कौन कौन सी खबरें छापते रहे.यानी कुल मिला कर देश में इस प्रकार नैतिक भ्रष्टाचार की मुखालफ़त करने के लिये एक और अन्ना जी की ज़रूरत है जो इस तरह की संस्कार हीन परिस्थितियों को रोकने की कोशिश करे.
   वैसे सबको विश्वास  है कि अपना सेंसर बोर्ड पर जो जिस्म-2 कैंची नहीं चलाएगा महेश भाई के रसूख और तर्क के  आगे कौन नहीं झुक सकता.है. खैर जो भी हो हम-आप अगर सब मिल कर गंदगी को हटाने की मुहिम छेड़ दें तो शायद मायानगरी के  "नैतिक-भ्रष्टाचार" के खिलाफ़ जन मानस बनेगा ये तय है.  

3 टिप्‍पणियां:

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!