jabalpur आपके साथ है...!"

स्टार-वाइस ऑफ इंडिया आभास जोशी के चक्रवात
मे आने की जानकारी मिलते ही शहर जबलपुर का
द्रवित होना लाजिमी ही था आभास जोशी स्नेह मंच के सदस्यों ने आज सघन संपर्क कर आम जनता से आभास जोशी के पक्ष मे वोटिंग
की अपील की.आभास को राखी.भेजने वाली बालिकाओं ने स्कूलों में संपर्क
कर आभास के लिए वोट करने की अपील की है. मन्च के प्रतिनिधियों
के व्दारा जब प्रेमसागर क्षेत्र के लोंगों से संपर्क किया पर जानकारी मिली कि
श्री राजा सोनकर के नेतृत्व में वंशकार बेन समाज के लोगों ने आभास को
चक्रवात से बचाने का संकल्प लिया है. जबलपुर के आभास जोशी का
एलिमिनेशन से बचाने शहर जबलपुर का सन्कल्पित होने के लिए आभास जोशी स्नेह मंच ,बावरे-फ़क़ीरा टीम , तथा जोशी परिवार ने आभार व्यक्त किया .इतना ही नहीं जबलपुर की एक 60 साल पुरानी संस्था "गुन्जन-कला-सदन" ने आभास जोशी को स्व. महेन्द्र शिमला चौधरीस्मृति सम्मान दिया जिसे उनके लिए ग्रहण किया उनके चाचा-चाची श्रीसतीश -संगीता बिल्लोरे ने . इसके बाद आभास के पिताजी रविन्द्र ऑर एक चाचा जितेन्द्र ने जब वोट अपील की तो मानस भवन में तालिओं की गूँज ही सुनाईदे रही थीजबलपुर के युवा नेता रोहित तिवारी हीरा ने एक उपवास रख कर ईश्वर से चक्रवात से निकालने की प्रार्थना की मधु वंशकार अपनी 50 सहेलियों के साथ खेरमाई मंदिर में प्रार्थना के लिए साथ गयी ,जबकि गुरु ने गेट नंबर 02 के हनुमान मंदिर मे वोट अपील के पर्चे हनुमान जी के सामने ही,रख दिए. .


गिरीश बिल्लोरे ''मुकुल"

9926471072

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!