चित्रकार जगदीश पटेल : रंगों का चितेरा





इन चित्रों का सृजन किया है -जबलपुर के चित्रकार श्री जगदीश पटेल ने
आप जानना चाहेंगे इन के बारे में और अधिक तो मिलिए इनसे सोमवार को इसी स्थान पर
बेवजह शब्द तो नहीं उगलते बस सदा कर के दिखा देते हैं

10 टिप्‍पणियां:

  1. Its very good thing that u r encouraging artist .all paintings are fantastic.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया चित्र हैं भाई-जगदीशा पटेल जी को बधाई. सोमवार का इन्तजार है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. शुक्रिया जी
    कोशिश है आत्मकेंद्रित न रहूँ

    उत्तर देंहटाएं
  4. Wah mujhe bataya to sikha bhee deejiye
    kaise blog banana hai
    Sharad Joshi

    उत्तर देंहटाएं
  5. chitra bahut hi ghatiya he.. m f hussain ki kahi kahi behat besharmi se ganddi nakal ki he........
    bhaddi chitra kari....

    उत्तर देंहटाएं
  6. main sabhee tippaniyon se unako awagat karaa detaa hoon

    उत्तर देंहटाएं
  7. wah.....sir ji...jagdish patel sir ke to apun purane fan hain...gajab ke artist hain.....aur bahut hi ache insan.......badhai.in chitron ke liye

    उत्तर देंहटाएं

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!