जबलपुर ब्रिगेड के नए ब्रिगेडियर अजय कुमार झा का स्वागत है


                                                                                                                    (पाबला जी और झा जी )      

आम -सूचना   
ब्रिगेड के महत्वपूर्ण फैसले के मुताबिक़ कमांडर महेन्द्र मिश्र जी के हुक्म पर अजय कुमार झा साहब को बतौर ब्रिगेडियर आमंत्रण भेजा गया .जिसे वीर रणबाँकुरे ने फ़ौरन स्वीकारा आज ब्रिगेड का आकार बढ गया है .10 से बढकर  ब्रिगेडिअर्स अब 11 हो गए . कमांडर के तौर पर सी जी के ब्लागर्स को आमंत्रण भेजे  जाने पर विचार मंथन करने तथा कई अन्य मुद्दों पर विमर्श हेतु एक बैठक का आयोजन "सदर कैफे-काफी  डे" में दिनांक 7 दिसंबर 09 को शाम 7 बजे  होने जा रही है.
कमांडर इन चीफ : पद रिक्त इस पद के लिए कल मिसिर जी के आने के बाद फ़ौरन उड़न-तश्तरी को ड्यूटी आदेश भेजना तय है
कमांडर एक कमांडर महेन्द्र मिश्र   सीनियर ब्लॉगर
अंत में बांचिये
और
मेरे जीजा श्री द्वय  क्रमश: विजय  तिवारी  " किसलय  "
एवं
के  आलेख
क्रमश: 

आज के दौर में मीडिया की भूमिका तथा  इसके लिये भी भूमिका लिखूँ.....?



तथा ग़दर पार्ट टू के निर्माता राजीव तनेजा जी का ये वाला आलेख ज़रूर देखिये
साथ ही लगे हाथ इस सत्य कथा को भी देखिये तो भूतनाथ का ये आलेख भी कभी लम्हों ने खता की है....सदियों ने सजा पायी.....!! जबदस्त बन पडा है . जबकि हिमांशु राय की रपट देखिये इप्टावार्ता हिंदी पर जो इनका संस्था का ब्लॉग है . एक ब्लॉगर मित्र ये जानना चाहते थे कि भोपाल में हुए नाटकों पर रपट आयी क्या ? नेट पर किसे फुरसत है बाकी की चर्चा करे जो . सब परमेन्दर शरद  कोकास मिसिर जी [कमांडर जी] अजय भाई थोड़े हैं जो सबको समेंटें अब देखिये ब्लॉग प्रहरी को सबकी
avinashjiमुंबई मीट पर रपट ले आये.  अथवा पूर्णिमा जी की तरह 'पत्रकारिता के सामाजिक सरोकार` विषय पर व्याख्यानये सब लिखे किसे फुरसत है कि सबको जोड़ने के लिए हल्का-फुल्का वातावरण तैयार करने ताऊ की तरह या तनेजा जी की तरह सबको मग्न रखे मिसिर जी देखिये आज इनने समीर लाल जी ने जूता विमर्श क्या किया  क्या छापा दन्न से एक अखबार  ने चर्चा कर दी . इससे नए ब्लॉगर ने मुझे फून लगा के पूछा भइया, जी बताओ सबसे ज़्यादा  लाभ किस विषय पर लिखने से होता है ? जानतें हैं हमने क्या कहा जी हाँ जूता जूती विषय चुनो लिखो ............ हमारे  भविष्य के कमांडर इन चीफ   हैं वे भी तो लिख रहें हैं . हम भी भी लिखेगें तुम भी लिखो भैया ? 

इस महत्वपूर्ण सूचना के साथ शुभ रात्रि शब्बा-खैर खुदा-हाफ़िज़

7 टिप्‍पणियां:

  1. सटीक....

    अजय भाई का स्वागत है!

    उत्तर देंहटाएं
  2. कमांडर इन चीफ समीर जी का भी अग्रिम स्वागत है

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत खूब, अजय भाई भी बिग्रेडियर बन गये उन्‍हे बहुत बहुत बधाई।


    आपकी लघु चर्चा भी बहुत अच्‍छी लगी,

    उत्तर देंहटाएं
  4. ओतेरे कि ,
    गोया कि ये कि खबर फ़ैल गई...अमां भाई मियां हमें भर्ती करते ही ब्रिगेडियर बना दिया ...पप्पा से कहेंगे कि बन गए तो पप्पा खुश होते हुए भी घूर घूर के देखेंगे कि ...अबे इत्ती जल्दी इतना बड्डा प्रमोशन ........उन्हें क्या पता यहां प्यार स्नेह में कित्ती जल्दी जल्दी प्रमोशन मिलती है...
    टरेनिंग के लिए हमारी तैयारी फ़ुल है एकदम ....

    उत्तर देंहटाएं
  5. ओह, तो ये वजह थी अपने अजय भैया की पिछले दिनों ब्लॉगर्स के साथ लुका-छिपी खेलने की...जनाब किसी सीक्रेट मिशन के तहत अंडरग्राउंड होकर ब्रिगेडियर बनने की कोचिंग ले रहे थे...और हम खामख्वाह फ़िक्र में घुले जा रहे थे...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  6. अजय जी........ को बहुत बहुत बधाई..........

    हमें भी शामिल कर लीजिये अपने ब्रिगेड में.....

    उत्तर देंहटाएं

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!