Welcome Rajesh Dube उर्फ़ डूबे जी

[2december09cartoon01+doobeyji.jpg+blog.jpg]

हार्दिक स्वागत है राजेश भाई आपके ही इस कार्टून के साथ
               स्वागत@जबलपुर-ब्रिगेड 
कपिला जी के आदेश पर इनका परिचय 
कपिला जी
सादर अभिवादन
राजेश जी यानी डूबे जी जीव-विज्ञान के विद्यार्थी रहे है पैनी नज़र और नज़रिए की वज़ह से कार्टूनिष्ट भये इनके पूर्व जन्मों के कर्म दंड भोग रहे हैं , डाक्टर न बन सके दवा कंपनी के विक्रय प्रबंधन के मुखिया बने किन्तु प्रेस नामक वायरस के शरीर में प्रवेशित होते ही भाई नई-दुनिया जबलपुर के कार्टूनिष्ट होते भयेब्लॉग पर कार्टून डालतें हैं अब कार्टून के लिए अखबार में खबरें खंगालतेहैं ... मिलते ही दिमाग की भट्टी पे रखे सोच के भगोने में विचारों के पानी के साथ उबालातें हैं फिर कार्टून के रूप में निकालतें हैं 
बाल बच्चेदार होने साथ समझदार भी हैं हर सुन्दर स्त्री तक में कार्टून देखतें हैं सो भाभी साहिबा का बेलन केवल रोटी बेलने के काम ही आ रहा है..... हमारी शुभ कामनाएं उस बेलन के साथ सदैव है ... 

11 टिप्‍पणियां:

  1. डूबे जी का हार्दिक स्वागत!! ब्रिगेड की गरिमा बढ़ी इनके आने से!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. डूबे जी का पूरा परिचय दे देती तो अच्छा था । मेरी ओर से भी स्वागत है। धन्यवाद्

    उत्तर देंहटाएं
  3. डूबे जी का हार्दिक स्वागत!! ब्रिगेड की गरिमा बढ़ी इनके आने से!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. वैलकम बैंड बजाया जाए....टैण टैणेन ......

    उत्तर देंहटाएं
  5. डूबे जी ब्रिगेड मा बड़ी आग है :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. कपिला जी
    जोड़ दिया उनका परिचय
    ज़रा हटके है

    उत्तर देंहटाएं
  7. हम तो डूबे जी के फैन हैं, उनके कार्टून खूब पढता रहता हूँ। आपने उनका परिचय देकर बहुत अच्छा किया। पढकर प्रसन्नता हुई। आभार।
    --------
    छोटी सी गल्ती जो बडे़-बडे़ ब्लॉगर करते हैं।
    क्या अंतरिक्ष में झण्डे गाड़ेगा इसरो का यह मिशन?

    उत्तर देंहटाएं
  8. आज पता चला राजेश भाई कितने मशहूर हैं
    बधाइयां राजेश भाई

    उत्तर देंहटाएं

कँवल ताल में एक अकेला संबंधों की रास खोजता !
आज त्राण फैलाके अपने ,तिनके-तिनके पास रोकता !!
बहता दरिया चुहलबाज़ सा, तिनका तिनका छिना कँवल से !
दौड़ लगा देता है पागल कभी त्राण-मृणाल मसल के !
सबका यूं वो प्रिय सरोज है , उसे दर्द क्या कौन सोचता !!